a
हरियाणा का सर्वाधिक लोकप्रिय संध्या दैनिक
Homeखेलहंसी का पिटारा

हंसी का पिटारा

हंसी का पिटारा

1 .पढ़ाई और जिम हमेशा ‘कल’ से शुरू होते हैं…
.
और…
.
सिगरेट और शराब भी ‘कल से ही’ छोड़ी जाती है..!!
.
और इतना तो पता ही होगा कि ‘कल’ तो कभी आता नहीं है…!!!

2. बेटी – मैं पड़ोसी से प्यार करती हूं और
भाग रही हूं उसके साथ..!!

बाप – थैंक गॉड… मेरे पैसे और
समय दोनों बच गए..!

बेटी – पापा, मैं लेटर पढ़ रही हूं, जो मम्मी
रख के गई है…!!!
.

पिता बेहोश.

3. पति – आज खाने में क्या बना रही हो?

पत्नी – आलू की सब्जी बना रही हूं!

पर मुझे ये समझ नहीं आ रहा है कि
आलू अभी तक पके क्यों नहीं!

पति – तो तुम ऐसा क्यों नहीं करती!

पत्नी – क्या करूं?

पति – तुम थोड़ी देर आलू से बातें करके देखो,
शायद पक जाए…!!

4. एक प्रश्न : पत्नी क्या है ?

उत्तर : पत्नी उस शक्ति का नाम है जिसके घूरने भर से देखने पर टिंडे की सब्ज़ी में पनीर का स्वाद आने लगता है।

5. पति पेप्सी को सामने रख के उदास बैठा था
पत्नी आई और पेप्सी पी गई और बोली : आज आप उदास क्यों हैं?
पति : आज तो दिन ही खराब है
सुबह तुमसे झगड़ा हो गया
रास्ते में कार खराब हो गई
ऑफिस लेट पहुंचा,,,,
बॉस ने नौकरी से निकाल दिया
अब सुसाइड करने के लिए पेप्सी में जहर मिलाया था वो भी तुम पी गई…

Author

piyushsharma43043@gmail.com

No Comments

Leave A Comment