a
हरियाणा का सर्वाधिक लोकप्रिय संध्या दैनिक
Homeदेशक्या इतना आसान है सिंगल मदर बनना ?

क्या इतना आसान है सिंगल मदर बनना ?

क्या इतना आसान है सिंगल मदर बनना ?

बॉलीवुड की फेमस कोरियोग्राफर सरोज खान ने 71 साल की उम्र में इस दुनिया को अलविदा कह दिया। बीते कुछ दिनों से उन्हें सांस लेने में काफी तकलीफ हो रही थी जिसके कारण उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था लेकिन गुरुवार रात दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बड़े-बड़े फिल्म स्टार्स से घिरी रहने वाली सरोज निजी जिंदगी में बेहद अकेली थीं। 13 साल की उम्र में शादी और फिर तीन बच्चे, जहां न पति का साथ था और न ही किसी अपने एक सहारा।

जी हां, सरोज खान ने भले ही माधुरी दीक्षित से लेकर ऐश्वर्या राय बच्चन तक के क़दमों को संवारने का काम किया हो, लेकिन उनकी निजी जिंदगी हमेशा ही उथल-पुथल से भरी रही है। उन्होंने अपने दम पर अपने तीनों बच्चों हामिद, हिना और सुकैना खान की देखभाल की है। लेकिन कभी आपने इस बात पर गौर किया है कि एक अकेली महिला के लिए कितना मुश्किल हो जाता है बिना किसी शिकायत के एक मर्द की तरह पूरे घर की जिम्मेदारी को उठाना।

इस बात में तो कोई दोराय नहीं कि हमारे समाज में ज्यादातर पितृसत्ता वाली सोच का ही बोलबाला है। ऐसे में चिंता उस समय ज्यादा तनावपूर्ण और चुनौतीपूर्ण हो जाती है जब एकल मांओं को अपने रोजमर्रा के जीवन के अलावा घर की बाकी जिम्मेदारी को भी अकेले ही संभालना पड़ता है। आज भले ही हमारा समाज कितनी तरक्की क्यों न कर रहा हो, लेकिन सिंगल मदर्स की राहें अभी भी आसान नहीं हैं।

बच्चों की परवरिश से लेकर उनकी शादी-ब्याह का खर्चा और साथ ही दुनियाभर की तरह-तरह की बातें, ऐसे में सिंगल मदर को इस सफर में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। लेकिन वह चाहे तो हिम्मत से काम लेकर भी इन परिस्थतियों को हंसते-खेलते दूर कर सकती है।

Share With:
Rate This Article
Author

piyushsharma43043@gmail.com

No Comments

Leave A Comment