बड़ागुढ़ा। क्षेत्र के बुढाभाना, नागोकी, किराड़कोट, अलीकां, झिडी़, बीरुवाला, नेजाडेला खुर्द, मल्लेवाला, सहारणी, शेखुपुरिया, बप्पां आदि गांवों में पहले ओलावृष्टि और वीरवार, शुक्रवार को दोबारा अचानक हुई भारी बेमौसमी बारिश से निचले भागों में फसलों में जल भराव हो गया है, जिससे किसानों की चिंता बढ़ गई है।
Rama Times
खेती किसानी

ओलावृष्टि और बारिश से फसलों के हुए नुकसान : बड़ागुढ़ा

बड़ागुढ़ा। क्षेत्र के बुढाभाना, नागोकी, किराड़कोट, अलीकां, झिडी़, बीरुवाला, नेजाडेला खुर्द, मल्लेवाला, सहारणी, शेखुपुरिया, बप्पां आदि गांवों में पहले ओलावृष्टि और वीरवार, शुक्रवार को दोबारा अचानक हुई भारी बेमौसमी बारिश से निचले भागों में फसलों में जल भराव हो गया है, जिससे किसानों की चिंता बढ़ गई है। शुक्रवार को बीकेई अध्यक्ष लखविंद्र सिंह औलख ने मूसलाधार बारिश से प्रभावित क्षेत्र के गांवों में जाकर खेतों में फसलों के हुए नुकसान पर किसानों के संग चिंता जताई। गांव बुढाभाना में बीकेई अध्यक्ष लखविंद्र सिंह औलख, दीपक मैहता, प्रेम मैहता, संजय कुकरेजा, सोम प्रकाश, नन्द लाल, राधेश्याम, महेश चंद्र, मदन लाल, संदीप आदि से मिले और फसलों के हुए नुकसान पर चिंता जताई।

उन्होंने कहा कि 24 मार्च को ओलावृष्टि और अब तक की हुई बरसात से सिरसा जिले के ज्यादातर गांव प्रभावित हुए हैं। रबी की फसलों का बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है, इसलिए सरकार से अपील है कि किसानों को पोर्टल के चक्करों से बाहर निकालते हुए अधिकारियों को गांवों में भेजें। हमें शंका है कि पोर्टल में दर्ज हुई जानकारी में सरकार कमियां निकाल कर फिर से किसान को खराब हुई फसलों के मुआवजे से वंचित रख सकती है, इसलिए खेतों में जाकर ही नुकसान का आंकलन किया जाए। वहीं किसानों ने उन्हें बताया कि वीरवार को तेज हवा के साथ बारिश और शुक्रवार को दोबारा फिर अचानक हुई मूसलाधार बारिश से जलभराव जैसी स्थिति पैदा हो गई है। इससे पहले आए आंधी-तूफान और ओलावृष्टि से जमीन पर बिछी पड़ी गेहूं आदि फसलों को और नुकसान होगा, क्योंकि इससे गेहूं की बालियां खराब हो जाएंगी। वहीं पानी के कारण पत्ते आदि गलने से सडऩ पैदा हो सकती है, जिसे लेकर किसानों ने फसलों के हुए नुकसान को लेकर चिंता जताई। इसी तरह गांव शेखुपूरिया निवासी कुरड़ा राम चाहर, सुखवीर कड़वासरा, प्रताप ढिढारिया, बलवीर चाहर, अनिल कड़वासरा, विनोद चाहर, विदेश चाहर, दिनेश चाहर, महेंद्र, सुल्तान आदि किसानों ने फसलों के हुए नुकसान को लेकर गहरी चिंता जताई। किसानों ने बताया कि इस बार हमारे क्षेत्र में बेमौसमी बरसात और ओलावृष्टि के दौरान फसलों का भारी नुकसान हुआ है, वहीं दोबारा फिर आई बारिश ने जमीन पर बिछी पड़ी फसलों को और नुकसान पहुंचाया है। जिला प्रशासन से मांग करते हुए किसानों ने क्षेत्र में बेमौसमी बरसात और ओलावृष्टि से फसलों के हुए नुकसान का मुआवजा देकर सहयोग की अपील की।

Related posts

04-04-2023..मंगलवार|

R K Bharadwaj

रिकॉर्ड तोड़ते हुए सिरसा में घग्गर नदी का जलस्तर हुआ नीचे: पूर्व CM भूपेंद्र हुड्डा करेंगे सिरसा-फतेहाबाद का दौरा! (रविवार को 42 हजार क्यूसेक पानी रिकॉर्ड हुआ)

R K Bharadwaj

भाखड़ा में सिंचाई पानी को लेकर किसानो ने किया प्रदर्शन

R K Bharadwaj

Leave a Comment